दरबार मूवी स्टोरी इन हिंदी – रजनीकांत

दरबार कहानी-

दरबार मूवी स्टोरी

मूवी डिटेल्स –

डिरेक्टेड बाई -ऐ र मुरुगादॉस
प्रोडूसेड बाई – अल्लीराज सबस्करान
स्क्रीनप्ले बाई – ऐ र मुरुगादॉस
स्टेरिंग – रजनीकांत , नयनतारा , निवेत्ता थॉमस , सुनील शेट्टी
म्यूजिक बाई – अनिरुद्ध रविचंदर

दरबार कहानी-

दरबार मूवी स्टोरी एक एक्शन मूवी है जिसमे मुख्य किरदार द सुपर स्टार रजनीकांत का है इस फिल्म के निर्देशक ए आर मुरुगादॉस है

दरबार फिल्म स्टोरी मुंबई पुलिस पर आधारित है,जिसमे मुंबई पुलिस वालो के साथ हुई एक घटना से मुंबई की जनता का मुंबई पुलिस पर से विस्वाश उठ चूका है।

आदित्य अरुणाचलम (रजनीकांत ) मुंबई पुलिस का कमिश्नर है जो की बहुत सख्त है खबर होती है की एक ही दिन में वह ९ – ९ एनकाउंटर करता है।  यह कहानी एक गुंडा अमर सिंह के बर्थडे पार्टी से सुरु होती है जहा पर एक दूसरा गुंडा आदित्य अरुणाचलम को मरने के धमकी देकर अमर की पार्टी में छिपने के लिए आ जाता है ,और वही पर आदित्य अरुणाचलम कमिश्नर ऑफ़ मुंबई आते है और सब की धुलाई कर के मार देते है। और इसी वजह से उनकी जांच करने के लिए सीबीआई की जाँच के आदेश दिए जाते है लेकिन वह इस मुद्दे को अपने तरीके से हल केर लेते है।

अब जरा उनके बीते हुए दिनों में चलते है जहा से स्टोरी असलियत में सुरु होती है , वे अपनी बेटी के साथ रह रहे होते है लेकिन अचानक से उन्हें उनके सीनियर अफसर उन्हें बुलाते है और उनके एक बहुत ही खतरनाक मुंबई का सबसे बड़ा ड्रग लोडर, जिसका नाम हरी चोपड़ा (सुनील शेट्टी ) है उसके बारे में बताते है ,की आज से २७ साल पहले यह आदमी एक हवेली में हरी ने १३ पुलिस वालो को जिन्दा जला कर फरार हो गया था जिसकी वजह से मुंबई की जनता का मुंबई पुलिस पर से विश्वाश उठ गया था। ऐसी मिशन को पूरा करने और हरी को पकड़ने के लिए आदित्य अरुणाचलम को मुंबई ट्रांसफर कर दिया जाता है।

आगे जब वे मुंबई पहुंचते है तब उन्हें वह पता चलता है की ३ लड़किया केतनाएप हो गयी है जिसमे एक लड़की डिप्टी सी ऐम की है और वे डिप्टी सी ऐम से जाकर मिलते है और उनसे पूछताछ करते है और उनसे सारी तरह की पेर्मिशन लेते है ,और उन लड़कियों को ढूढ़ना सटार्ट करते है ,और इस तरह वे मुंबई में हो रहे लड़कियों के सभी धंधे ख़त्म कर देते है और डिप्टी सी ऐम की बेटी के साथ और सभी लड़कियों को ढूंढकर उनके परिवार को सौप देते है। उसी दौरान एक होटल में जिसका ओनेर विनोद मल्होत्रा है जिसका बेटा अजय मल्होत्रा भी पकड़ा जाता है जिसे पुलिस जेल में बंद कर देती है।

इधर आदित्य अरुणाचलम की बेटी उनसे यह सरत रखती है की जब वे सदी करंगे उसके बाद ही वह अपनी सादी करेगी ,ऐसी वजह से आदित्य अरुणाचलम लिली(नयनतारा ) नाम की लड़की से उनका प्यार सुर्रू हो जाता है और लिली से उनको प्यार हो जाता है ,विनोद मल्होत्रा अपने बेटे को बचाने की पूरी कोसिस करता है इसी वजह से आदित्य अरुणाचलम को मुंबई से वापस दिल्ली बुलाया जाता है लेकिन आदित्य अरुणाचलम नहीं जाते है और फिर से वह वापस मुंबई आ जाते है।

जब आदित्य अरुणाचलम को यह पता चलता है की विनोद ने अपने बेटे की जगह किसी और को जेल में रखा है तो आदित्य अरुणाचलम एक प्लान के जरिये उसे मार देते है। जब यह बात विनोद मल्होत्रा को पता चलती है तो वह डर जाता है क्यूंकि वह विनोद मल्होत्रा का बेटा नहीं है वह हरी का बेटा है। और यह बात विनोद हरी को बताता है तो हरी विनोद मल्होत्रा को जान से मार देता है।

और आदित्य अरुणाचलम का ट्रक से असिडेंट करवाता है जिसमे आदित्य अरुणाचलम की बेटी की मौत हो जाती है। और इसी वजह से आदित्य अरुणाचलम गुस्से से पागल हो जाता है इसी वजह से उसे पुलिस ससपेंड कर देती है लेकिन आदित्य अरुणाचलम को कोर्ट की तरफ से अपनी फिटनेश को फ्रूफ करने के लिए चार दिन की महोलट दी जाती है।

और जब आदित्य अरुणाचलम को यह पता चलता है की उसकी बेटी को विनोद मल्होत्रा ने नहीं मारा है ,उसकी बेटी को हरी ने मारा है तब वह हरी को तलाश करने लगता है। हरी पुलिस वालो को बेवजह मरवाने लगता है सैकड़ो पुलिस घायल हो जाते है और सैकड़ो मारे जाते है ,जब आदित्य अरुणाचलम को हरी के अड्डे का पता चलता है तो वह उसको पकड़ने पुलिस फाॅर्स के साथ उस जगह पर जाता है लेकिन हरी वह से भाग जाता है और उस जगह पर पहुंच ता है जहा पर उसने पहले १३ पुलिस वालो जिन्दा जला देता है और आदित्य अरुणाचलम को वही पर अकेले आने के लिए कहता है और आदित्य अरुणाचलम वह पर पहुंच जाते है और वही पर उन दोनों में फाइट होती और हरी मारा जाता है।

मूवी ट्रेलर –

दरबार मूवी स्टोरी

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*